Saturday, November 27, 2021
Home उत्तराखंड आखिर कौन है इन मासूमों की मौत का जिम्‍मेदार

आखिर कौन है इन मासूमों की मौत का जिम्‍मेदार

नई दिल्ली। पुरानी सब्जी मंडी इलाके में बहुमंजिला इमारत गिरने से हुई दो मासूमों की मौत की जांच रिपोर्ट आ गई है, लेकिन यह चौंकाने वाला है कि इसमें निगम के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को क्लीन चिट दे दी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चूंकि इमारत पहले से जर्जर नहीं थी और न ही किसी ने इसकी शिकायत की थी, लिहाजा निगम के स्तर पर कोई लापरवाही नहीं हुई है और इसके लिए कोई जिम्मेदार नहीं है। निगमायुक्त ने हादसे के बाद भवन (मुख्यालय) को जांच के आदेश दिए थे। निगमायुक्त संजय गोयल के आदेश के बाद मंगलवार को जांच समिति ने रिपोर्ट सौंप दी। विगत 13 सितंबर को हुए इस हादसे के लिए फिलहाल भूतल पर दुकान चलाने वाले संपत्ति मालिक मोहक अरोड़ा को गिरफ्तार किया गया है। 12 घंटे के निर्माण कार्य पर गिर गई इमारत निगम की जांच रिपोर्ट के अनुसार, घटनास्थल से छह लोगों के बयान लिए गए हैं। इसमें पड़ोसी और आसपास रहने वाले शामिल हैं।

स्थानीय लोगों ने जांच समिति को बताया कि 12 सितंबर की रात को इमारत में बनी दुकान में शटर डालकर निर्माण शुरू किया गया था और 13 सितंबर को 12 घंटे पूरे होने से पहले ही यह घटना हो गई। जांच रिपोर्ट के अनुसार, चूंकि यह इमारत पहले से जर्जर नहीं थी, इसलिए इसमें प्रथमदृष्टया भी निगम की कोई लापरवाही नहीं है। इतना ही नहीं, निगम ने जब इस इलाके में जर्जर इमारतों का सर्वे किया था, इमारत में किसी भी प्रकार की दरार नहीं थी। इमारत में किए जा रहे अवैध निर्माण को लेकर भी निगम के कंट्रोल रूम में कोई शिकायत नहीं आई थी और न ही पुलिस ने इस संबंध में कोई रिपोर्ट निगम को दी। जांच अधिकारियों ने इसी आधार पर सभी को क्लीन चिट दे दी है। 13 सितंबर को पुरानी सब्जी मंडी इलाके में एक बहुमंजिला इमारत गिर गई थी। घटना में रस्ते से मां के साथ गुजर रहे बच्चे प्रियांशु और सौम्य इमारत के मलबे में दब गए थे। बचाव दल ने दोनों बच्चों को मलबे से निकाल लिया था, लेकिन अस्पताल ले जाने पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इस इलाके में 20 इमारतें जर्जर थीं, ऐसे में इस इमारत का भी जर्जर होना इसके ढहने की वजह माना जा रहा था। निगम ने इस घटना के बाद एक बार फिर से जर्जर इमारतों का सर्वे किया है, हालांकि वह रिपोर्ट अभी सार्वजनिक नहीं की गई है। उपायुक्त समेत चार अधिकारियों की भूमिका की भी हुई  जांच समिति ने घटना वाले इलाके में सिविल लाइंस जोन के चार अधिकारियों की भूमिका की भी जांच की। इसमें उपायुक्त सतनाम सिंह, अधिशासी अभियंता संजय शर्मा, सहायक अभियंता केसी रोहिल और कनिष्ठ अभियंता विपिन की भूमिका की भी जांच की गई, लेकिन चूंकि किसी भी प्रकार की शिकायत उक्त इमारत को लेकर नहीं आई थी, इसलिए इन सभी को क्लीनचिट दे दी गई।

जांच रिपोर्ट के अनुसार, चूंकि निगम द्वारा जर्जर इमारतों का किया गया सर्वे तकनीकी नहीं होता है। ऐसे में किसी अधिकारी को भी जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है। कब तक निर्दोषों की जाएगी जान अक्सर इस तरह की घटनाओं में निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को क्लीनचिट मिल जाती है। ऐसे में सवाल है कि इन घटनाओं के चलते जान गंवाने वालों की मौत का जिम्मेदार कौन है। क्या इसी तरह मासूमों की जान जाती रहेगी और फिर हर बार जांच के नाम पर खानापूर्ति होती रहेगी। स्थानीय लोगों के बयान के अनुसार, 12 सितंबर की रात को भवन में निर्माण शुरू किया गया था और 13 की सुबह घटना हो गई। यह इमारत पहले से खतरनाक नहीं थी। ऐसे में निगम की किसी स्तर पर लापरवाही की पुष्टि नहीं हुई है। -संजय गोयल, निगमायुक्त, उत्तरी दिल्ली नगर निगम

RELATED ARTICLES

रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल

ऋषिकेश। रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल होंगे। इसके अलावा छह अन्य पुलिस इंस्पेक्टर को इधर-उधर किया गया है। सभी के आज-कल में नई...

पूर्व फौजी ने पत्नी समेत स्वयं को गोली से उड़ाया, क्षेत्र में सनसनी

ऋषिकेश। रानीपोखरी थाना अंतर्गत रखवाल गांव में एक पूर्व फौजी ने पत्नी समेत स्वयं को गोली से उड़ा दिया है। घटना से क्षेत्र में...

राज्य की खेल नीति पर कैबिनेट ने लगाई मुहर

देहरादून। राज्य की खेल नीति पर कैबिनेट ने मुहर लगा दी। इसके अलावा 20 अन्य प्रस्तावों को भी राज्य कैबिनेट ने हरी झंडी दे...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

हरीश रावत की कद्दू छुरी और नासमझ उडयारी पहाड़ी किशोर उपाध्याय

ऋषिकेश। कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के कद्दू छुरी वाले बयान पर कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्यक्ष ने स्वयं...

सड़कों की खोदा-खादी हो रही है तो समझो चुनाव आ गया

ऋषिकेश। चुनावी साल में विकास को दिखाने के लिए सड़कों की खोदा-खादी और बनाने का उपक्रम तेजी से हो रहा है तो समझो चुनाव...

गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज पावकी देवी में संविधान दिवस पर कार्यक्रम

ऋषिकेश। गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, पावकी देवी में सविधान दिवस पर आयोजित शैक्षणिक कार्यक्रमों में छात्र/छात्राओं ने बढ़ चढ़कर शिरकत की। इस मौके पर छात्र/छात्राओं...

सेमनागराज त्रिवार्षिक मेला एवं जात में शामिल हुए मुख्यमंत्री

नई टिहरी। विकास की जो घोषणाएं हो रही हैं उन्हें हर हाल में धरातल पर उतारा जाएगा। सरकार का फोकस आम लोगों की बेहतरी...

संविधान दिवस पर गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज पाबौ में कार्यक्रम

पौड़ी। गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज, पाबौ में संविधान दिवस पर नेहरू युवा कल्याण केंद्र के बैनर तले भाषण तथा निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।...

श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय की बीएड प्रवेश परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न

ऋषिकेश। श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय की बीएड परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हो गई। परीक्षा के लिए पंजिकृत 6570 में से 5392 छात्र/छात्राएं परीक्षा देने के...

गढ़वाल विवि के दीक्षांत समारोह में शिरकत करेंगे केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान

श्रीनगर। एक दिसंबर को प्रस्तावित हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय के नौवें दीक्षांत समारोह में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बतौर मुख्य अतिथि...

मुनिकीरेती में कांग्रेसियों ने लिया संविधान की रक्षा का संकल्प

मुनिकीरेती। संविधान दिवस पर आयोजित संगोष्ठी में कांग्रेसियों ने भारतीय संविधान की रक्षा का संकल्प लिया। इस मौके पर संविधान में आम जन को...

रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल

ऋषिकेश। रवि सैनी ऋषिकेश के नए कोतवाल होंगे। इसके अलावा छह अन्य पुलिस इंस्पेक्टर को इधर-उधर किया गया है। सभी के आज-कल में नई...

श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय ने बिठाई एक और जांच

नई टिहरी। श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय प्रशासन ने दो सहायक परीक्षा नियंत्रक के पदों पर हुई नियुक्तियों की जांच बिठाई है। पूर्व न्यायधीश की...