देवभूमि उत्तराखंड के चुनावी रण में 632 योद्धा, 95 ने छोड़ा मैदान

देवभूमि उत्तराखंड के चुनावी रण में 632 योद्धा, 95 ने छोड़ा मैदान
Spread the love

देहरादून। देवभूमि उत्तराखंड के चुनावी रण में 632 योद्धा रह गए हैं। 95 ने विभिन्न वजहों से आखिरी दिन मैदान छोड़ दिया। देहरादून जिले की 11 विधानसभा सीटों पर सबसे अधिक 117 उम्मीदवार मैदान में हैं। जबकि दो-दो सीट वाले जिले बागेश्वर और चंपावत में 14-14 प्रत्याशी चुनाव मैदान में रह गए हैं।

राज्य की सभी 70 विधानसभा के लिए कुल 727 ने विधायकी हेतु नामांकन कराया था। सोमवार को नाम वापसी के आखिरी दिन 95 ने नामा वापस ले लिए। इस तरह से अब चुनाव मैदान में 632 प्रत्याशी रह गए हैं। इनमें से कौन 70 राज्य की पांचवी विधानसभा में विधायक होंगे इस पर जनता 14 फरवरी को निर्णय देगी। परिणाम 10 मार्च को घोषित होगा।

उत्तरकाशी जिले की तीन विधानसभा सीटों में 23, चमोली में 31, रूद्रप्रयाग में 25, टिहरी में 38, देहरादून में 117, हरिद्वार में 110, पौड़ी में 47, पिथौरागढ़ में 28, बागेश्वर और चंपावत में 14-14, अल्मोड़ा में 50, नैनीताल में 63, उधमसिंहनर में 72 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

देहरादून में सबसे अधिक 24 प्रत्याशियों ने नाम वापस लिए। इसके अलावा हरिद्वार में 17, बागेश्वर में 14, उधमसिंहनगर में 13 और नैनीताल में नौ, अल्मोड़ा में छह, टिहरी में पांच, पौड़ी में पांच उत्तरकाशी में चार, चमोली में तीन, रूद्रप्रयाग में दो चंपावत में एक, प्रत्याशियों ने नाम वापस लिए।

बहरहाल, इस तरह से उत्तराखंड में चुनावी मैदान पूरी तरह से सज गया है। 632 योद्धा अपना चुनावी कौशल दिखाकर लोगों का समर्थन हासिल करने का प्रयास करेंगे। प्रत्याशियों के प्रयासों को राजनीतिक दल अपने हिसाब से उत्प्रेरित करेंगे। कई सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी दिग्गज नेताओं की जमकर परीक्षा भी लेंगे।

Tirth Chetna

Leave a Reply

Your email address will not be published.