श्राइन बोर्ड के गठन के निर्णय से पुरोहित नाराज, सरकार का पुतला फूंका

श्राइन बोर्ड के गठन के निर्णय से पुरोहित नाराज, सरकार का पुतला फूंका

- in धर्म-तीर्थ
0

देवप्रयाग। प्रदेश की डबल इंजन सरकार के चारधाम समेत 51 मंदिरों के लिए श्राइन बोर्ड गठन के निर्णय का विरोध करते हुए बदरीनाथ के तीर्थ पुरोहितों ने सरकार का पुतला फूंका।

शनिवार को श्राइन बोर्ड के गठन के सरकार के निर्णय के विरोध में युवा तीर्थपुरोहितों ने नगर में जुलूस निकाला और तहसील मुख्यालय पहुँचकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।आक्रोशित तीर्थपुरोहितों ने सरकार का पुतला फूंका।

युवा तीर्थ पुरोहित रजनीश मोतीवाला ने कहा कि चार धामां के प्रचार प्रसार में पुरातन काल से तीर्थपुरोहितों व हक हकूकधरियो का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इनकी पीढ़ीयों के परिश्रम से ही आज चार धाम का वर्तमान स्वरूप बना है।

सरकार ने रातोरात तीर्थपुरोहितों की राय लिए बिना बोर्ड बनाने का फैसला ले लिया। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी सरकार द्वारा तप्तकुंड का पानी को होटलों में सीधे ले जाने तब भी पंडा समाज ने इसका पुरजोर विरोध कर इसकी पवित्रता बचायी थी।

उन्होंने कहा कि चारधाम पर कोई भी फैसला बिना हक्कुधारियो के राय बगैर नही हो सकता। पुरोहित राहुल कोटियाल ने कहा कि बोर्ड में मैदानी क्षेत्र का कोई तीर्थ शामिल न कर सरकार ने साबित किया है कि वह पहाड़ विरोधी मानसिकता से काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि चंडीदेवी, नीलकंठ, मनसादेवी, सिद्धबली, धारीदेवी, गंगाघाट को क्यो नही लिया गया। इससे साफ होता है कि सरकार के पास ऐसी कोई नीति नही है जो एक समान हो। उन्होंने कहा ये जल्दीबाजी में लिया गया फैसला है इसको चारो धाम के लोग कभी स्वीकार नही करेंगे।इस विरोध प्रदर्शन में विनोद जोशी, अंकित , गगन , अनिरुद्ध, विपुल सवासेरिया, मुकेश पंचपुरी, गौरव मिर्जापुरी, अशोक टोडरिया, विकास ध्यानी, विजय ध्यानी, संतोष भट्ट, धनेश ध्यानी , अंकित जोशी, उत्तम भट्ट, नसीब,संजय बाजौरीया आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आम आदमी पार्टी ने बढ़ाया कई दिग्गज नेताओं का ब्लड प्रेशर

पौड़ी। आम आदमी पार्टी ने प्रदेश के राजनीति