चर्चाओं से परेशान हैं नेताजी

चर्चाओं से परेशान हैं नेताजी

- in देहरादून, राजनीति
0

bjp-logoभाजपा में टिकट को लेकर उड़ रही चर्चाओं ने करीब आधा दर्जन नेताओं की नींद हाराम कर दी है। परेशान नेता जी कार्यकर्ताओं के सामने सफाई पेश कर रहे हैं।
2017 के चुनाव के लिए भाजपा हाईकमान का होमवर्क फूलप्रूफ है। जनरल फीडबैक से लेकर कार्यकर्ताओं की टोह और दो-दो सर्वे रिपोर्ट का विश्लेषण कर एक-एक विधानसभा की रिपोर्ट तैयार कर ली गई है।
इस रिपोर्ट पर जीत का उभयनिष्ठ फार्मूला कुछ सिटिंग विधायकों पर भारी पड़ सकता है। कारण सत्ता के लिए जोर लगा रही पार्टी किसी भी स्तर पर चूक करने को तैयार नहीं है। 2012 में ऐसी चूक से पार्टी पांच साल के लिए सत्ता से बाहर हो गई थी।
यही वजह है कि कुछ दिग्गज अपनी परंपरागत सीट बदलने की कोशिश में जुट गए हैं। उक्त नेता सर्वे में अपनी खराब स्थिति के तमाम कारण गिना रहे हैं। स्वयं को क्षेत्र में सक्रिय और जनता से जुड़ा होने का दावा कर रहे हैं।
पार्टी है कि ऐसा नेताओं को कार्यकर्ताओं की टोह, फीडबैक और सर्वे रिपोर्ट का आइना दिखा रही है। यही वजह है कि कुछ नेता आकाओं के शरण में पहुंचने लगे हैं।
बहरहाल, इसके चलते टिकट कटने की चर्चाएं भी जोर पकड़ने लगी हैं। उक्त सीटों पर अन्य दावेदारों की क्षेत्र में सक्रियता काफी कुछ स्पष्ट भी कर रही है। नेता जी का अधिकांश समय खास समर्थकों को ऑल इज वेल बताने में बीत रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

परियोजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने के निर्देश

देहरादून। वाह्य सहायतित परियोजनाओं के अंतर्गत संचालित परियोजनाओं